रविवार, मार्च 31, 2013

दिल की हालत ...


7 टिप्‍पणियां:

  1. ये पहेली किसके समझ आयी है जी?

    बहुत सुंदर रचना, शुभकामनाएं.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सुंदर सटीक शब्द बधाई

    उत्तर देंहटाएं
  3. इस पहेली का हल मुश्किल है...पर नामुमकिन नहीं...

    उत्तर देंहटाएं
  4. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत खूब वर्षा जी आपकी लाइन को समर्पित

    पहेलियाँ सुलझ जाये तो क्या बात हुई
    हालात बन जाये तो वो न हालात हुई
    कटती हैं रातें तारे गिन गिन तन्हाई में
    ये भी गैरों को बताने पूछने की बात हुई

    उत्तर देंहटाएं