सोमवार, मार्च 18, 2013

आहटें ....


4 टिप्‍पणियां:

  1. आहटें सच में ऐसी ही होती हैं. शायद ये मन की एक स्थिति होती है, बहुत शुभकामनाएं.

    रामराम.

    उत्तर देंहटाएं
  2. हमेशा की तरह प्रभावशाली रचना

    उत्तर देंहटाएं
  3. आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति मंगलवारीय चर्चा मंच पर ।।

    उत्तर देंहटाएं

  4. जब कोई दूर दूर रहता है आहटें ही नसीब होतीं हैं ,

    रास्तों के करीब होती हैं .आकर्षक प्रस्तुति .

    उत्तर देंहटाएं