रविवार, जून 03, 2012

किससे क्या कहें .....


13 टिप्‍पणियां:

  1. ye hame sochna hai ..wo bechara kya kahega..sunder prastuti..sadar badhayee aaur amantran ke sath

    उत्तर देंहटाएं
  2. एक ऐसा प्रश्‍न जिसका उत्‍तर श्रमिक वर्ग भी सदियों से माँग रहा है किंतु आज तक जवाब नहीं मिला!
    सार्थक रचना !

    उत्तर देंहटाएं
  3. बेहद मार्मिक प्रश्न .....!

    उत्तर देंहटाएं
  4. आपकी इस उत्कृष्ठ प्रविष्टि की चर्चा कल मंगल वार 29/5/12 को राजेश कुमारी द्वारा चर्चा मंच पर की जायेगी |

    उत्तर देंहटाएं
  5. दुनिया चलाने वाले
    तेरे खेल निराले...

    उत्तर देंहटाएं
  6. गहरी बात....
    अति उत्तम..

    उत्तर देंहटाएं
  7. शायद इसी कों किस्मत के खेल कहते हैं ... लाजवाब ...

    उत्तर देंहटाएं
  8. किससे क्या कहें या दुखवा मैं कासे कहूं मोरी सजनी । मरे पोस्ट पर आपका इंतजार रहेगा । धन्यवाद ।

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. सुन्दर सृजन , बधाई.


      कृपया मेरे ब्लॉग पर भी पधारकर अपना स्नेह प्रदान करें, आभारी होऊंगा .

      हटाएं
  9. ये अक्सर होता है जो बनाता है वो भोगता ही नहीं .
    आइना दिखाता है हमें वो खुद कभी देखता ही नहीं

    BEAUTIFUL POST BASED ON LIFE.

    उत्तर देंहटाएं