रविवार, अप्रैल 08, 2012

ज़िन्दगी की बातें.....


13 टिप्‍पणियां:

  1. सुन्दर लगी आपकी हर बातें ..सुन्दर कविता

    उत्तर देंहटाएं
  2. आदमी से करनी हैं आदमी की बातें ....
    बेहतर भावाभिव्यक्ति ....अगर हम यह करने में सफल हो जाएँ तो निश्चित रूप से दुनिया का स्वरूप बदल सकता है ...!

    उत्तर देंहटाएं
  3. .....बहुत खूब लिखा है आपने ... बेहतरीन प्रस्‍तुति ।

    उत्तर देंहटाएं
  4. deep naa bujhe preet ka.geet gaayein ham jeet ka..aandhiyon se baatein karein ...aarti ke....sach me hausla ke sath badbolapan nahi hona chahiye...behad shandaar rachna..sadar badhayee ..aaur apne blog par amantran ke sath

    उत्तर देंहटाएं
  5. सहज शब्दों में...गहन बातें...

    उत्तर देंहटाएं
  6. बड़ी सादगी से गहरे अर्थ बता दिए आपने ...
    शुभकामनायें आपको !

    उत्तर देंहटाएं
  7. दीप न बुझे प्रीत का
    गीत गांए हम जीत का
    आंधिओँ से करनी है
    आरती की बातें ...
    बहुत सुन्दर कविता ...!

    उत्तर देंहटाएं